Monday, October 12, 2015

इलेक्ट्रोन बटर - तुलसी और नीम


खुदा ने भेजा सेहत का हवाला 
ओमेगा-3 से भरपूर हर निवाला

   इलेक्ट्रोन बटर अलसी और नारियल के कोल्ड-प्रेस्ड तेल से बनाया जाता है। यह अल्फा-लिनोलेनिक एसिड
(ओमेगा-3 फैट का मुखिया) से भरपूर दुनिया का श्रेष्ठतम फैट है, जिसमें सजीव, ऊर्जावान और गतिशील इलेक्ट्रोन्स होते हैं। ये इलेक्ट्रोन्स हमें स्वस्थ और दीर्घायु जीवन प्रदान करते हैं। यही अमरत्व घटक हैं जो हमें मानुष बनाते है। यह बटर हृदय हितैषी है, कॉलेस्टेरोल को नियंत्रण में रखता है, दिल के ब्लॉक खोलता है और हार्ट अटेक के कारण पर अटेक करता है। यह डायबिटीज को टर्मिनेट करता है। यह इम्यूनिटी का आधार है और अनेक ऐलर्जिक रोग जैसे सोरायसिस, एग्जीमा आदि का उपचार है। यह जोड़ के हर रोग का तोड़ है और मेनोपॉज की तकलीफें जैसे हॉट फ्लशेज, डिप्रेशन, पति पर अचानक खुंदक आना आदि पर पॉज़ लगाता है। लिनोलेनिक एसिड माइंड के सर्किट का सिमकार्ड है, मेमोरी बढ़ाता है, विद्यार्थियों के व्यक्तित्व का सर्वांगीण विकास करता है और सफलता के सारे द्वार खोल देता है।

   नारियल तेल में लॉरिक एसिड नाम का एक कोमल और अदना सा मीडियम चेन फैटी एसिड भी होता है, जो बिना पित्त की मदद के सीधा लीवर में पहुँचता है, जहाँ यह मेटाबोलिज्म को उत्साहित करता है और ऊर्जा बनाता है। यह हृदय के लिए हितकारी है। हमारा शरीर इसे मोनोलॉरिन में परिवर्तित करता है, जो इम्यूनिटी बढ़ाता है और एंटीबेक्टीरियल व एंटीवायरल (इंफ्लुएंजा, हरपीज, एच.आई.वी. आदि) है। यह वजन घटाता है, थायरॉयड, केश और त्वचा को स्वस्थ रखता है। प्याज़ और लहसुन इसे महक और स्थिरता प्रदान करते हैं। तुलसी और नीम इसे बेहद गुणकारी बनाते हैं।

   आप इसे रोटी, परोटा, ब्रेड, सलाद, या पुलाव के साथ प्रयोग कर सकते हैं। आप इसे खाना पकाने में प्रयोग कर सकते हैं। इसके लिए पहले आप कढ़ाही या पेन को गर्म करें, फिर इलेक्ट्रोन बटर डाल कर सिर्फ 2-3 मिनट तक अपना व्यंजन फ्राई करें और फिर पानी मिला कर आगे की कुकिंग कर सकते हैं।

No comments: