Tuesday, March 19, 2013

दिनांक 5 मार्च को जयपुर और 12 मार्च, 2013 को उदयपुर में अलसी पर सेमीनार





दिनांक 12.3.13 को उदयपुर की विश्व विख्यात संस्था शिक्षांतर में अलसी पर विशाल सेमीनार आयोजित किया गया, जो 2 घंटे तक चला। इस सेमीनार में डॉ. ओ.पी.वर्मा ने अलसी के चमत्कारों पर विस्तार से चर्चा की। साथ ही इस सेमीनार में श्री जयंती जैन सेल्स टेक्स कमिश्नर, श्री अनिल पॉल ने भी अपने अनुभव साझा किये। समारोह के बाद सभी मेहमानों को जलपान करवाया। इस मौके पर अलसी के प्रति भावना, स्नेह और मुझसे मिलने की तमन्ना की खातिर 80 वर्षीय श्री सोहन लाल जी तिवारी नवगांव, छतरपुर म.प्र. (1000 किलोमीटर) से उदयपुर अकेले पधारे थे। हम उनका अभिवादन करते हैं, स्वागत करते हैं। नीचे वाले चित्र में वे सफेद कुर्ता पाजामा पहन कर छड़ी लेकर कुर्सी पर बैठे हैं। आप भी उन्हें नमन करें और उनसे प्रेरणा लें। हम आपके संदेश उन तक पहुँचा देंगे। 

शिक्षांतर के संचालक श्री मनीश जैन को उस दिन आस्ट्रेलिया जाना था और वे अलसी की चर्चा में इतने तल्लीन हो गये थे कि उनकी पत्नि बार बार उन्हें बुला रही थी और कह रही थी कि जल्दी एयरपोर्ट निकल लो वर्ना फ्लाइट मिस हो जायेगी .....




   
दिनांक 4.3.13 को शाम 5 बज कर 10 मिनट पर दूरदर्शन जयपुर पर चौपाल में अलसी की सफल वार्ता के बाद दिनांक 5.3.13 को जयपुर के श्री रमेश मेडतवाल के घर पर अलसी पर विशाल सेमीनार आयोजित किया गया, जो 3 घंटे तक चला। इस सेमीनार में डॉ. ओ.पी.वर्मा ने अलसी के चमत्कारों पर विस्तार से चर्चा की। साथ ही इस सेमीनार में डॉ. बी.बी.जाजू, डॉ आनंद गौतम, श्री ओम प्रकाश गंगवाल, श्री अनिल पॉल, श्री विजय सेठ, डॉ. जोशी, डॉ. गजेंद्र सिंह, डॉ. प्रजापति (डॉ. इंडिया के संपादक) ने भी अपने अनुभव साझा किये। समारोह के बाद सभी मेहमानों को श्री रमेश मेडतवाल ने दूध मिष्ठान्न भंडार में लजीज डिनर करवाया।





2 comments:

Dr. O.P.Verma said...

यदि आप भी अपने शहर में अलसी पर समीनार करवाना चाहें तो संपर्क करे। 9460816360 डॉ. ओम वर्मा

Sunita Verma said...

very good seminar