Friday, December 9, 2011

Dr. Kedar Shivhare



डॉ. केदार शिवहरे कैंसर रोग विशेषज्ञ दमोह

डॉ. शिवहरे कैंसर रोग विशेषज्ञ से 15 -16 दिसंबर 2010 को भोपाल मे आयुर्वेद पंचकर्म पर राष्ट्रीय कोन्फ्रेन्स मे अलसी पर व्याख्यान के बाद बातचीत हुई उन्होंने बताया कि उनके पेट में काफी कब्ज़ी रहती की। वे हर तरह का डॉक्टरी इलाज व आयुर्वेदिक इलाज ले चुके थे उनके लिए ये बीमारी लाइलाज हो चुकी थी। उनके पांवों के घुटनों में भी काफी दर्द रहता था फिर डॉ. शिवहरे ने 15 -16 दिसंबर 2010  के बाद से अलसी का सेवन नियमित शुरू किया। अलसी खाने के बाद उनकी ये सारी तकलीफे दूर हो गयी हैं। अब उनको कोई कब्जी की दवा नहीं लेनी पड़ती घुटनो का दर्द भी ठीक हो चुका है। उनका पूरा परिवार अब अलसी का सेवन कर रहा है।  

No comments: